Friday, September 22, 2017
suneetadhariwal.com
कानाबाती -कानाबाती- कुर्रर्ररररर

फेसबुक वाले भाई मित्रो सुनो

हरी बत्ती देख कर चैट पर चले आने वाले मित्र भाईयो -निवेदन है कि जरूरी नही कि मैं हर वक्त चैट पर उपल्बध ही होती हूं ।या हरदम वहां मैं ही हूं अनेक बार घर का कोई अन्य सदस्य या मेरी assistent भी हो सकती है। computer on होते ही automaticaly -fb and other social networking accounts on हो जाते हैं । भाई मित्रो -आप शिष्टाचार के नाते समय भी देख लिया करो, मित्रो मात्र नमस्ते हालचाल पूछते हो -जवाब नही मिलता तो अपने दिमाग में तनाव पाल लेते हो -कि पता नहीं कयूं जवाब नही मिल रहा – मेरे लिए यूं भी सभी chat requests entertain करना सम्भव नही हो पाएगा कुछ जरूरी हो तो message box में लिख भेजें-मैं जैसी भी हूं सब कुछ तो status update में लिख ही तो देती हूं । और भगवान के लिऐ कृप्या मुझे अपने करतबी चित्र -विचार भड़ास इ त्यिादी मेरी दीवार पर न चिपकाऐं । अगर आप चाहतें हैं कि मैं आपकी रचना देख लूं या पढ़ लूं तो कृप्या तो उसे भी message box में लिख भेजें।have a good day