Monday, June 25, 2018
suneetadhariwal.com
कानाबाती -कानाबाती- कुर्रर्ररररर

आदरणीय भारतीय महिला मित्रो हम सब मिल कर इतिहास बना सकती है

हम 49 प्रतिशत भारतीय महिलाऐं भारतीय मीडीया में लगभग हाशिए पर हैं अकसर rape victims ,crime victims ,film stars celebrities,sometimes political women की खबरों के अतिरिक्त बाकी महिलाऐं यदा कदा ही दिखाई देती हैं। electronic मीडीया बहुत ही सशक्त माध्यम है जो छविया घड़ने व जनमत बनाने में बहुत प्रभावी होता है। इतनी शिक्षा ,दक्षता व उपलब्ध अवसरो के वावजूद महिलाओं के प्रति स्थापित भारतीय सामाजिक राय में कितना परिवरर्तन आया है आप खुद भी जानती है। हमें इस दिशा में स्वंय आगे कदम बढाना होगा। कयूं न हम सब जनता की मदद से women tv india network -channel की स्थापना करें और स्वंय ही अपनी news अपना media content निश्चित करें व उसका प्रसारण करें । let there be a public supported /funded women channel -by the women -about the women -for everyone .
मेरा विश्वास है यदि हम ठान लें तो मुश्किल कुछ भी नहीं होगा ।- बहनो नारी हठ से देवता व राक्षस दोनो ही ङरते है । हम में अथाह ताकत है बस हमारे खुद के सिवाय सभी जानते है।
यदि हम सब अपने अपने साम्थर्य अनुसार तन मन धन समय दान करें और एक दूसरे का हौंसला बढाऐं और हर महिला के छोटे बडे प्रयासों की दिल से प्रशंसा करें और उन्हें सरंक्षण दें तो हमारे लिए यह काम जरा भी कठिन नही रहेगा।
यह GROUP उन सब महिलाओं के लिए है जो हमारे IDEA का न केवल समर्थन करती हैं बल्कि अपना सक्रिय योगदान देने के लिए committed भी हैं । आप सब के इस विषय पर सुझाव आमन्त्रित है-
यदि WTVIN विचार हकीकत में बदल भी जाऐ तो कया कया हो पाऐगा-

1-सूचना के एक सशक्त माध्यम पर महिलाओं का अधिकार हो जाऐगा जहां वे अपने दृष्टिकोण से अपनी बात रखने में सक्षम हो जाऐंगी।

2–महिलाओं के प्रति स्थापित गैरजरूरी मान्यताओं को बदलने में सफल होगीं-किसी बड़ी हद तक

3- हजारो महिलाओं के लिए प्रत्यक्ष व परोक्ष रोजगार उत्पन्न कर पाऐगी

4-national women policy में भी भागीदारी कर कुछ बेहतर करेंगी

5-सैंकड़ो मीडीयाकर्मी महिलाओं को मीडीया संस्थानो के शोषण से बचा पाऐगी

6-objectification of women in media -नऐ प्रतिमान स्थापित कर पाऐंगी

7-महिलाओं के नजरिऐ से चीजें समझने के लिऐ समाज व सरकार को बाध्य कर पाएंगी

8-महिलाऐं राजनैतिक ताकत के रूप में उभरने लगेगीं जब उन्हे निष्पक्षता से main stream influential media का सहारा मिलने लग जाऐगा

और भी बहुत कुछ होगा -आप मिल कर चार कदम चलिऐ तो सही

कितनी भी मुश्किलें आऐं हमें अपने इस आन्दोलन को हर हाल कम से 15 से 20 वर्षो तक समान सोच व उद्देशय से इसे चलाना ही होगा -हमें मंच पर बने रहना होगा।

हालांकि जानती हूं काम आसान नही है बहुत बड़ी पूंजी का खेल है पर प्रयास तो किया ही जा सकता है । आप राष्ट्रीय मीडीया से सक्रियता से जुड़ी है आपको यह सब हास्यपद लगेगा ही ।पर कुछ नया सा बड़ा करने की शुरूआत कहीं से तो होगी ही
शुरूआत में विडीयो वेब पोर्टल ही बना लें चाहें -देखें तो सही कोशिश कर के । हालाकिं वेब पर ढेरो ईसी प्रकार की साइट उपल्बध हैं पर उन सब के बीच हम कुछ अलग सा भी कर सकते हैं।

जय हिन्द